Sharabi Shayari In Hindi.

Sharabi Shayari, Sharabi Shayari image, Sharabi Shayari photo, Sharabi Shayari pic, Sharabi Shayari hindi,Top Sharabi Shayari, Daru shayari

peete the sharaab hum usne chudadi apni kasam dekar
mehfil mein gaye the hum yaaron se piladi usiki ki kasam dekar
पीते थे शराब हम उसने छुडादी अपनी कसम दे कर
महेफिल में गए थे हम यारों ने पिलादी उसीकी कसम दे कर,

dusre deshon mein log kahte hai ghar jao tumne pi rakhi hai
hamare deshon mein kahte hai ab ghar mat ja tumne pi rakhi hai
दुसरे देशों में लोग कह्ते है घर जाओ तुमने पि रखी है
हमारे देशों में कह्ते है अब घर मत जा तुमने पि रखी है,

tere hontho mein bhi kiya khub nasha mila
yun lagta hai tere jhute pani se sharab banti hai
तेरे होंठों में भी किया खूब नशा मिला
यूँ लगता है तेरे झूठे पानी से शराब बनती है,

ye hi fark hai tere aur mere shahar ki barish mein
tere yahan jaam lagta hai mere yahan jaam lagate hai
ये ही एक फर्क है तेरे और मेरे शहर की बारिश में
तेरे यहाँ जाम लगता है मेरे यहाँ जाम लगते है,


hum to ji rahe the unka naam lekar
wo gujar rahe the hamara salaam lekar
kal wo kah gye bhula do humko
humne pocha kaise wo chale gye
haton mein jaam de kar
हम तो जी रहे थे उनका नाम लेकर
वो गुजर रहे थे हमारा सलाम लेकर
कल वो कह गये भुला दो हमको
हमने पोछा कैसे वो चले गये हाथों में जाम देकर,

baath sajdon ki nahi niyat ki hai
maikhane mein har koi sharabi nahi hota
बात सजदों की नहीं नियत की है
मैखाने में हर कोई शराबी नहीं होता,

yaaron ki mahfil aise jamai jaati hai
kholne se pehele botal hilaayi jati hai
fir tute dil waalon ko awaaz lagayi jati hai
ke aao yahan dard-e-dil ki dawa pilayi jati hai
यारों की महफ़िल ऐसे जमी जाती है
खुलने से पहेले बोतल हिलाई जाती है
फिर टूटे दिल वालों को आवाज़ लगायी जाती है
के आओ यहाँ दर्द-ए -दिल की दवाई पिलाई जाती है,

baithe hai dil mein ye armaa jagaye
k wo aaj najron se apni pilaye
maza to tab hi hai peene ka yaron
Edhar hum piye nasha unko aye
बैठे है दिल में ये अरमां जगाये
के वो आज नजरों से अपनी पिलाये
मज़ा तो तब ही पीने का यारो
इधर हम पियें और नशा उनको आये,


peene se kar chuka tha tauba magar
bodal ka rang dekh k niyat bdal gayi
पीने से कर चूका था में तौबा मगर
बादल का रंग देख के नियत बदल गई,

jaam pe jaam pinese kiya faida
shaam ko pi subha utar jayegi
are do bund mere piyaar ki pile
zindagi saari nasho mein gujar jayegi
जाम पे जाम पीनेसे किया फ़ायदा
शाम को पी सुबह उतर जाएगी
अरे दो बूंद मेरे पियार की पीले
ज़िन्दगी सारी नशे में गुजर जाएगी,

Leave a Reply