Matlabi Shayari In Hindi.

Matlabi Shayari, मतलबी शायरी, Matlabi Shayari photo, Matlabi Shayari image, Matlabi Shayari sms, Matlabi Shayari hindi, Matlabi Shayari pic, New Matlabi Shayari, Matlabi Shayari in hindi.

उन्हें बेवफा जो बोलों तो तौहीन है वफ़ा कि वो तो निभा रहे है कभी उधर कभी इधर.
unhe bewafa jo bolo o tauheen hai wafa ki wo to nibha rahe hai kabhi udhar kabhi idhar.

इस से तो ख़ामोशी बहेतर है के किसी को दिल की बात कह कर फिर इस से कहा जाये के किसी से न कहना
isse to khamoshi behtar hai ke kisi ko dil ki baat keh kar phir isse kaha jaye ke kisi se na kahna.

काटों में रह कर भी हम ज़िन्दगी जी लेते है हर ज़क्म को अपने हाटों से सी लेते है जिस दोस्त को केह दिया दोस्त का हाथ हम ऊस हाथ से ज़हर भी पि लेते है
kaaton mein rahe kar bhi hum zindagi je lete hai har zakm ko apne haaton se see lete hai jis haath ko keh diya dost ka haath hum us haath se zaher bhi pi lete hai.


दफ़न होना है उसकी आँखों में ये मेरी आखरी वसीयत है
dafan hona hai uski aankhon mein ye meri aakhiri wasiyat hai.

मगरूर हम भी है गजब के लेकिन तेरे गुरुर का बस ज़रा सी अह्तेराम करते है
magrur hum bhi hai gajab ke lekin tere gurur ka bus zara si ahteraam karte hai.

ये दिन है के यारों का भी भरोसा नहीं वो दिन थे के जब दुसमन से भी नफरत ना थी
ye din hai ke yaaron ka bhi bharosa nahi wo din the ke dusman se bhi nafrat na thi.

आईने भी तुम्हे तुम्हारी खबर ना दे सकेंगे आओ देखों मेरी निगाहूँ में कितने हसीन हो तुम
aayine bhi tumhe tumhari kabhar na de sakenge aao dekho meri nigahun mein kitne haseen ho tum.


सबसे खतरनाक नाराज़गी वो होती है जिस में आप कभी ऊस शक्स पर जताते नहीं के आप नाराज़ है
sabse khatarnaak narazgi wo hoti hai jis mein aap kabhi us shaks par jatate nahi ke aap naraz hai.

मुझ को ऊस शक्स के अफ्लास पे रहेम आता है जिस को हर चीज़ मिली सिर्फ मोहब्बत ना मिली
mujh ko us shaks ke aflaas pe rahem aata hai jis ko har cheez mili sirf mohabbat na mili.

Leave a Reply