Anmol Vachan in Hindi.

Anmol Vachan in Hindi – अनमोल वचन, Aaj hum padhenge anmol vachan in hindi, amnol vachan, anmol vachan, अनमोल वचन , Latest anmol vachan, anmol vachan Hindi, Top anmol vachan, New anmol vachan, Best anmol vachan, acche anmol vachan.

zindagi jab deti hai to ahesaan nahi karti
aur jab leti hai to lihaz nahi karti
ज़िन्दगी जब देती है तो अहेसान नहीकरती
और जब लेती है तो लिहाज़ नहीं करती,

ek dusre ke liye jeene ka naam hi zindagi hai
isliye waqt unhe do jo tumhe chate hai dil se
एक दूसरे के लिए जीने का नाम ही ज़िन्दगी है
इसलिये वक़्त उन्हें दो जो तुम्हे कहते है दिल से,

wo sapne sach nahi hote jo sote waqt dekhen jaate hai
sapne wo sach hote hai jinke liye aap sona chod dete hai
वो सपने सच नहीं होते जो सोते वक्त देखे जाते है
सपने वो सच होते है जिनके लिए आप सोना छोड़ देते है,

jis tarha waqt ka khaas hona hamare liye
buhut zaruri hai
usi tarha kisi khaas ke liye hamere pas
waqt ka hona bhi zaruri hai
जिस तरह वक़्त का ख़ास होना हमारे लिए
बहुत ज़रूरी है
उसी तरह किसी ख़ास के लिए हमरे पास
वक़्त का होना भी ज़रूरी है,


khushi ke liye kaam karoge
to khusi nahi milegi
lekin khus ho kar kaam karoge to
khusi aur safalta dono milegi,
ख़ुशी के लिए काम करोग तो खुशी नहीं मिलेगी
लेकिन खुश हो कर काम करोगे तो
खुशी और सफलता दोनों मिलेगी,

samaye na lagao taye karne mein ki
aapko kiya karna hai
warna samaye taye kar lega ki
aap ka kiya karna hai
समाये न लगाओ तये करने में की
आपको किया करना है
वरना समाये तये कर लेगा की
आप का किया करना है,

uss aason se bachon jo kisi ka
dil dukhane se nikalte hai aur
uss aason ki qadar karo jo
aapke liye kisi ki aankh se nikalte
उस साँसों से बचो जो किसी का
दिल दुखाने से निकलते है और
उस साँसों की क़दर करो जो
आपके लिए किसी की आँख से निकलते है

do chezen apne adnar paida kar lo
hamesha faide mein rahu ge
chup rahena isse bada koi jawab nahi
aur maaf karna isse bada koi intekham nahi
दो चीजें अपने अन्दर पैदा कर लो
हमेशा फैदे में रहोगे
छुप रहेना इससे बड़ा कोई जवाब नहीं
और माफ़ करना इससे बड़ा कोई इन्तेक्हम नहीं,


train mein jarnal Asi dibbe ki duri
mahej kuch miter ki hoti hai
par ye duri tay karne mein lago ko
saalon lag jaate hai
ट्रेन में जर्नल से ऐसी डिब्बे की दुरी
महेज कुछ मीटर की होती है
पर ये दुरी तय करने में लोगो को सालों लग जाते है,

rishte bante rahe itna hi bohut hai
sab haste rahen itna hi bohut hai
har koi har waqt saath nahi rahe sakta
yaad ek dusre ko karte rahen itna hi bohut hai,

Leave a Reply